Skip to content

मुक्तक

MITHILESH RAI

MITHILESH RAI

मुक्तक

November 27, 2017

आज की शाम तेरे नाम हो जाए!
#दर्द_जुदाई का नाकाम हो जाए!
हो जाए गुस्ताखी तेरी याद में,
आज फिर से लबों पर जाम हो जाए!

मुक्तककार – #मिथिलेश_राय

Share this:
Author
MITHILESH RAI
#महादेव
Recommended for you