Skip to content

मुक्तक

MITHILESH RAI

MITHILESH RAI

मुक्तक

November 9, 2017

मेरी नजर से दूर तुम जाया न करो!
मेरी चाहत को तुम तड़पाया न करो!
तेरे लिए बेचैन हैं मेरी ख्वाहिशें,
मेरे प्यार पर गमों का साया न करो!

मुक्तककार- #मिथिलेश_राय

Share this:
Author
MITHILESH RAI
#महादेव
Recommended for you