23.7k Members 50k Posts

वृक्ष

आनन फानन में मैं चली गई इक कानन में
दृश्य सुन्दर, पवन संगीत बजा इन कानन में
कटते रहे यदि वृक्ष तो क्या होगा इस जीवन का
न वन्यजीवन, न वनस्पतियाँ, गहन विषय मनन में।

1 View
Sharda Madra
Sharda Madra
56 Posts · 1.2k Views
poet and story writer
You may also like: