23.7k Members 49.9k Posts

पिया परदेस

कुछ तपन मन में और कुछ बातें अनकही
कहूँ किसे पिया परदेस यही सोच रही
लिखूं मैं कोरे कागज़ पर मन की बातें
वो भी पढ़े विरह में, मैंने क्या-क्या सही

Like Comment 0
Views 20

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
Sharda Madra
Sharda Madra
56 Posts · 1.3k Views
poet and story writer