31.5k Members 51.9k Posts

मुक्तक

Apr 15, 2020 07:42 PM

दूर से आकर मेघों ने , आसमान को घेरा है,

चौफेरे फैल रहा, जैसे भयंकर अंधेरा है।

सूर्य, पुण्य भोर का वादा देकर, हो गया अस्त ,

एक होकर ,सब जुगनूओं ने, कर दिया सवेरा है।
©️✍
अरुणा डोगरा शर्मा,
पंजाब।

2 Likes · 12 Views
Aruna Dogra Sharma
Aruna Dogra Sharma
MOHALI
40 Posts · 1.5k Views
Poetess author of two poetry books "Lehrein" And "Dhaage " Prestigious Awards on literature by...
You may also like: