मुक्तक

इन्तजार केवक्त लम्बे हो गये
कैसे बेकरार हम भी हो गये
हुए कंगाल कुछ इस तरह से
हम से दूर तो गम भी हो गये

नूरफातिमा खातून “नूरी”
१२/४/२०२०

1 Like · 21 Views
नूरफातिमा खातून" नूरी" सहायक अध्यापिका प्राथमिक विद्यालय हाता-3 ब्लाक-तमकुही जिला-कुशीनगर उत्तर प्रदेश पिता का नाम-श्रीअख्तर...
You may also like: