मुक्तक

मुझे तो चाहना उसको ही पागलपन -सा लगता है,
बिना उसके मुझे पतझड़ भी अब सावन सा लगता है😥
चुराकर दिल मेरा उसने चुराया था सकुं यारों
जो मेरी जान था अब जान के दुश्मन सा लगता है,

Like 1 Comment 0
Views 6

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share