मुक्तक · Reading time: 1 minute

मुक्तक

” सफ़र में मुश्किलें आएँ तो जुर्रत और बढ़ती है,
रास्ता कोई जब रोके तो हिम्मत और बढ़ती है,
अगर बिकने पे आ जाओ तो लग जाती भले कीमत
न बिकने का इरादा हो तो इज्जत और बढ़ती है “

24 Views
Like
510 Posts · 16.3k Views
You may also like:
Loading...