मुक्तक :-- तेरे पायल की छन्कार मुझको यहाँ बुलाती है !!

मुक्तक :– तेरे पायल की छन्कार मुझको यहाँ बुलाती है !!

मै जब उदास हो जाता हूँ ,तनहाई तडफाती है !
तेरे पायल की छनकार ,मुझको यहाँ बुलाती है !
इन बागों इन गलियों मे , तेरे साये मीठी यादों के ,
यहाँ सावन की बौछार , मुझको बहुत रुलाती है !!

1 Comment · 189 Views
नाम - अनुज तिवारी "इन्दवार" पता - इंदवार , उमरिया : मध्य-प्रदेश लेखन--- ग़ज़ल ,...
You may also like: