मुक्तक :-- जिंदा लाश से लिपटी रही !!

मुक्तक :– जिंदा लाश से लिपटी रही !!

आज मेरी साँस तेरी साँस से लिपटी रही !
और पलकें एक हसीं अहसास से लिपटी रही !
दर्द से पत्थर जिगर भी टूर कर कुम्हला गय़ा ,
आरजू मेरी आश जिंदा लाश से लिपटी रही !!

अनुज तिवारी “इन्दवार”

1 Like · 11 Comments · 209 Views
Anuj Tiwari
Anuj Tiwari
118 Posts · 53.3k Views
9 Followers
नाम - अनुज तिवारी "इन्दवार" पता - इंदवार , उमरिया : मध्य-प्रदेश लेखन--- ग़ज़ल ,...
You may also like: