मिलने के ही साथ में ,देखो जुड़ा विछोह

मिलने के ही साथ में ,देखो जुड़ा विछोह
दुख होता उतना बड़ा, जितना ज्यादा मोह
जितना ज्यादा मोह,करेंगे हम जीवन में
उतने ज्यादा कष्ट , सहेंगे हम इस मन में
झड़ जाता भी फूल, बाद में बस खिलने के
मिलता यहाँ विछोह , साथ में ही मिलने के

डॉ अर्चना गुप्ता

23 Views
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी प्यारी लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद भी,...
You may also like: