23.7k Members 49.8k Posts

मित्र को चेतावनी

जाते हो तुम जिस तरह जल्दी आना जी।
प्यारे बच्चों के लिए कुछ खास खिलौने लाना जी
?
जाते हो परदेस अगर. खबर भी लेते रहना ।
पत्नी बच्चों को फिर आकर अपने गले लगाना जी
?
दौलत के इस चकाचौंध में भूल न जाना मित्रों को
उनकी भी खुशियां तुमसे है देखो भूल न जाना जी
?
मात-पिता की आँख के तारे, तुम्ही सहारे उनके हो
अच्छा बेटा बनकर ” प्रीतम” अपना फर्ज़ निभाना जी
—-@प्रीतम राठौर भिनगाई

Like Comment 0
Views 11

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
प्रीतम राठौर भिनगाई
प्रीतम राठौर भिनगाई
भिनगा
377 Posts · 6.9k Views
मैं रामस्वरूप उपनाम प्रीतम राठौर भिनगाई S/o श्री हरीराम निवासी मो०- तिलकनगर पो०- भिनगा जनपद-श्रावस्ती।...