कविता · Reading time: 1 minute

मातृ दिवस पर- माता जीवन दाता है ।

*माता जीवन दाता है ।*
माता जीवन दाता है,
माता भाग्य विधाता है ।
माता जन्म प्रदाता है ।
माता से जन्मो से नाता है ।
माता से मिलती नित सीख।
माता में दिखता है ईश।
माता से मिलती ममता है ।
माता से न कोई समता है ।
माता प्रथम गुरु है ।
माता से ही सीखना शुरू है।
माता ममता की है खान।
माँ में समाहित सारा जहाँन।
माता ईश्वर की कृति है ।
माता से ही जनता व्यक्ति है ।
माता जग में श्रेष्ठ महान।
माता से ही बनता इंसान ।
माता देवी की मूरत।
माता खुश तो न देव जरूरत।
*मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ* ।
*विन्ध्य प्रकाश मिश्र विप्र*

2 Likes · 40 Views
Like
343 Posts · 37.1k Views
You may also like:
Loading...