माँ

सबकी किस्मत में ये दौलत कहां होती है
खुशनसीब होते हैं जिनकी मां होती है
जिसके कदमों में जन्नत है
जिससे जिंदगी रवां होती है
वो नींद भर नहीं सोती
जब बेटी जवां होती है
ये तो खुद कुदरत है
न लफ़्ज़ों से बयां होती है
वो तो प्रेम का दरिया और
ममता की इंतिहा होती है
जीवन की अंधेरी राहों में
वो तो कहकशां होती है
उसकी गोद में सपने पलते हैं
और नस्लें जवां होती हैं
बोल वो खुदा के होते हैं
जो मां की जुबां होती है

Voting for this competition is over.
Votes received: 25
7 Likes · 49 Comments · 108 Views
अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम है साहित्य l समाज के साथ साथ मन का भी दर्पण...
You may also like: