31.5k Members 51.9k Posts

माँ

Nov 18, 2018 12:55 PM

ये माँ की दुआ का असर है
ग़म क्या है मुझे ना ख़बर है।

देखे जिस जगह सिर्फ ख़ुदा
माँ की उस जगह भी नज़र है।

जिसके सिर पर न वो हाथ हो
उसके जीवन पर तो कहर है।

जब तक साथ माँ की रहमतें
आसान यह जीवन डगर है।

आशीष गर मिलें उसकी हमें
होती ख़ुशनुमा हर सहर है।

रंजना माथुर
अजमेर (राजस्थान )

Voting for this competition is over.
Votes received: 48
2 Likes · 25 Comments · 284 Views
Ranjana Mathur
Ranjana Mathur
412 Posts · 18k Views
भारत संचार निगम लिमिटेड से रिटायर्ड ओ एस। वर्तमान में अजमेर में निवास। प्रारंभ से...
You may also like: