Aug 28, 2016 · कविता
Reading time: 1 minute

* माँ मुझे बच्चा रहना है *

* माँ मुझे बच्चा रहना है *

माँ मुझे बच्चा रहना है
बड़ी-बड़ी बातें हमें नहीं करना
सहिष्णुता-असहिष्णुता का पाठ हमें नहीं पढ़ना
इमाईनुल , मोहन, रहीम संग खेलना है
माँ मुझे बच्चा रहना है ।

बड़ा हो ब बनूंगा
कुर्तक से लोगों का मन मोरुंगा
मानवता के विरोध हमें नहीं लड़ना है
माँ मुझे बच्चा रहना है।

बड़ा हो तुझे बदनाम करु
अभिव्यक्ति के नाम पर तुझे दूँ गाली
इतना हमें नहीं पढ़ना है
माँ मुझे बच्चा रहना है।

बड़ा हो विलासि बन जाऊँ
भौतिक सुख सुविधा का लुफ्त उठाऊ
कुछ पाने के लिए तुझे नहीं खोना है
माँ मुझे बच्चा रहना है।

बड़ा हो महान कहलाऊ
तुझे बदनाम कर इनाम पाऊँ
इतना महत्त्वकांक्षी हमें नहीं बनना है
माँ मुझे बच्चा रहना है ।

बड़ा हो बड़ी बोल बोलु
तेरी अंग वस्त्र को खोलु
तेरे अंगों को नीलाम हमें नहीं करना है
माँ मुझे बच्चा रहना है।

माँ मुझे बच्चा रहना है॥

29 Views
Copy link to share
Narendra Kumar
2 Posts · 42 Views
You may also like: