Skip to content

माँ को समर्पित(५ हाइकु)

aparna thapliyal

aparna thapliyal

हाइकु

December 14, 2017

# १
वृक्ष सी छाया
आँचल सरमाया
माँ की माया।
#२
बोल ना पाया
मातृत्व समझाया
क्षुुधा मिटाया।
#३
कंचन काया
आँगन महकाया
माँ तेरा जाया।
#४
कान्हा का खेला
नहीं कोई झमेला
माता को मेला।
#५
माँ का वजूद
धरा सम विशाल
हरा दे काल।
अपर्णा थपलियाल “रानू”

Share this:
Author
Recommended for you