23.7k Members 50k Posts

माँ की ममता

Nov 8, 2018

माँ की ममता के सिवा, नही हमारा कोई दूजा !
नही कर्ज चूक सकता ,चाहे करे हम उसकी पूजा !!
विकट हालातो में भी, देती नही कभी बद्दुआ।
जो हो न सका माँ का,किसी का भी ना हुआ ।।
माँ दुनिया का है सबसे प्यारा रिश्ता ।
बिन माँ के दुनिया में ना ईश्वर ना फरिश्ता ।।
खुद भूखी रह खिलाती हमें पकवान ।
सपनो में भी हमारी ही खुशियों के अरमान ।।
खुद की नींद त्यागकर लोरी गाती सुनाती हमें ।
गलतियों पर प्यार से डांटती फटकारती हमें ।।
सांवले होने के बाद भी दुनिया की बुरी नजरो
से बचाने काला टीका लगाती हमें ।।
गीले में सो सूखे में सुलाती हमें ।
होतो ज्वर तो चूल्हे का ताप बताती हमें ।।
बच्चो को खिलाकर बाद में है खुद खाती
बच्चों के खातिर भगवान से भी लड़ जाती

This is a competition entry.
Votes received: 87
Voting for this competition is over.
18 Likes · 75 Comments · 307 Views
MANISHA
MANISHA
Fatehpura( SHRIMADHOPUR) dist-sikar
1 Post · 307 View
यह मेरी प्रथम कविता है । मैं कोई कवि या लेखक नही हूँ सिर्फ तुकबंदी...
You may also like: