31.5k Members 51.9k Posts

माँ की ममता की छांव

Nov 7, 2018 09:54 PM

जब भी किसी ने मुझे सताया,

माँ ने मुझको गले लगाया।

जब भी दुखों की धूप से झुलसा,

माँ ने ममता का छत्र लगाया।

कभी सिर दर्द से हुआ परेशां,

माँ ने गोदी में रख सिर मेरा दबाया।

जब भी लगी भूख मुझको,

माँ ने अपने हाथों से मुझे खिलाया।

जब भी ज़माने ने रुलाया मुझको,

मां ने मुझको धीर बंधाया।

जब से गई है पलटकर न देखा,

सपनों में भी मुझको दर्शन न कराया।

मेरी कृतघ्नता का दिया दंड,

मैं तुझको भुला, तूने मुझे भुलाया।

जयन्ती प्रसाद शर्मा

Voting for this competition is over.
Votes received: 40
8 Likes · 73 Comments · 170 Views
Jayanti Prasad Sharma
Jayanti Prasad Sharma
Aligarh(U.P)
114 Posts · 1.6k Views
नाम : जयन्ती प्रसाद शर्मा पिता का नाम : स्व: श्री छेदा लाल शर्मा जन्म...
You may also like: