"मरना-जीना सत्य है"

मरना जीना सत्य है
————————
मरना जीना सत्य है,होता है जग झूठ।
अपनी करनी भूल के,जाना कभी न रूठ।।
जाना कभी न रूठ,जग में प्यार ही सच्चा।
जोड़ी राँझा-हीर,जानता बच्चा-बच्चा।
सुन प्रीतम की बात,सच से कभी न मुकरना।
करो कर्म तुम उच्च,छोड़के जीना-मरना।

आर.एस.बी.प्रीतम कृत
—————————–

Like Comment 0
Views 13

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing