23.7k Members 50k Posts

मनुआँ काला, भैंस-सा

गंगाजल के बीच में, तन धोबें बन भैंस |
मनुआँ काला, भैंस-सा,जे अच्छे या भैंस ||

……………………………………………….

बृजेश कुमार नायक
“जागा हिंदुस्तान चाहिए” एवं “क्रौंच सुऋषि आलोक”कृतियों के प्रणेता
जागा हिंदुस्तान चाहिए कृति की पंक्तियाँ
28-06-2017

96 Views
Pt Brajesh Kumar Nayak
Pt Brajesh Kumar Nayak
155 Posts · 40.2k Views
1) प्रकाशित कृतियाँ 1-जागा हिंदुस्तान चाहिए "काव्य संग्रह" 2-क्रौंच सु ऋषि आलोक "खण्ड काव्य" 3-...
You may also like: