Skip to content

मईया आई गईनी हो..!!

पं.संजीव शुक्ल सचिन

पं.संजीव शुक्ल सचिन

गीत

January 13, 2018

(भोजपुरी भजन)
………………………..
शेरवा पर हो के सवार
मईया आ गईनी हो।
आई गईनी हो
मईया आई गईनी हो
शेरवा पे……… आई गईनी हो।।१।।

गईया के गोबरे से
अंगना लीपवनी
अंगना में गजमती
चउका पुरवनी
चम चम चमके दरबार
मईया आ गईली हो
शेरवा पर ……….आ गईनी हो।।२।।

बगीया से चुनी चुनी
फुलवा मंगवनी
मईया के रहीया में
फुलवा बीछवनी
अढऊल बनल गल हार
मईया आ गईली हो
शेरवा पर ……….. आई गईनी हो।।३।।

गंगा के पनीया से
कलशा भरवनी
आमवा पलऊवा से
कलशा सजवनी
कलशा रखेनी हर साल
मईया आगईनी हो
शेरवा पर ……..आई गईनी हो।।४।।

चईत कुवार में ही
माई के बोलाईं
नव दिन मईया के
हम गोहराईं
मन से करीले सतकार
मईया आई गईली हो
शेरवा पर…….मईया आई गईली हो।।५।।

नव दिन व्रत राखी
“सचिन” गोहराई
माई के चरनीया में
शीशवा नवाईब
कर जोरी करब परनाम,
मईया आ गईली हो
शेरवा पर ……….. आई गईनी हो।।६।।
……..
©®.पं.सचिन
पं.संजीव शुक्ल “सचिन”

Share this:
Author
पं.संजीव शुक्ल सचिन
D/O/B- 07/01/1976 मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।
Recommended for you