भोला भाला रूप

भोला-भाला रूप बना कुछ साधू फैंके जाल
कथा-कहानी सुनके जनता दंग,करते वो कमाल
असलियत खुली, गुनाह सामने, उन्हें मिलती जेल
अंधास्था, अन्धविश्वास कभी न करो, रखो ख्याल

1 Comment · 7 Views
poet and story writer
You may also like: