.
Skip to content

*भावनाओं का समंदर ‘हाइकु’के अंदर*

Neeru Mohan

Neeru Mohan

हाइकु

April 8, 2017

१. जिंदगी छोटी
सुहानी अलबेली
भरो उमंग

२. रवि किरण
छूटी अंबर में
नया उजाला

३. गोधूलि सांझ
चाँद निकला
शीतल छाया

४. वाणी रसीली
मन लुभाए
जीवन महकाए

५. जीवन मेरा
रस भरी बेला
सुख पहुँचाए

६. बेटी पराई
लक्ष्मी कहलाई
खुशियां आई

७. कन्यादान
जीवन वरदान
गौरव मान

Author
Neeru Mohan
व्यवस्थापक- अस्तित्व जन्मतिथि- १-०८-१९७३ शिक्षा - एम ए - हिंदी एम ए - राजनीति शास्त्र बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान एम फिल - हिंदी साहित्य कार्य - शिक्षिका , लेखिका friends you can read my all poems on... Read more
Recommended Posts
जीवन
जीवन सरस सलिल सा बहता जीवन अवरोधों संग बढ़ता जीवन निशा दिवस है गतिमय जीवन हँसते गाते चलता जीवन । दुख के पल भी सहता... Read more
मानव जीवन
मानव जीवन / दिनेश एल० "जैहिंद" कौन जाना वह जीवन क्यों पाया ।। इस धरती पर वह क्योंकर आया ।। यह जीवन तो है एक... Read more
अनुराग
प्रणय स्नेह अनुरक्ति प्रेम और अनुराग जीवन की बगिया खिलाते जैसे पुष्प पराग। अनुराग है कण कण में, अनुराग है जन्म मरण में। अनुराग है... Read more
*जीवन*
उमंगों का त्यौहार है जीवन मधुरिम सा इक प्यार है जीवन जी भर इसको तुम जी लो ईश्वर का उपहार है जीवन *धर्मेन्द्र अरोड़ा*