भारत स्वच्छता मिशन

भारत स्वच्छता मिशन

प्राणपन से शपथ लें हम स्वच्छता अपनाएंगे,
निज निलय से कार्यालय तक सतत चमकाएंगे.

स्वच्छ भारत मिशन का संकल्प मन में ठन गया है,
सोच बदलो, देश का माहौल ऐसा बन गया है.
हर युवा दिल धड़कता, कूड़ा नहीं फैलायेंगे . प्राणपन से शपथ लें….

हाथ-मुंह घर-द्वार बाहर, सड़क वन उद्यान सरिता,
रेलपथ, शिक्षा भवन, और अस्पतालों की जनता.
साफ सुथरे, तन – बदन से, स्वच्छ भारत पाएंगे. प्राणपन से शपथ लें….

खुले में लोटा पकड़कर, ताऊ जाना छोड़ दो,
दुल्हनों के पद सुकोमल घर के अन्दर मोड़ दो.
विश्व में निज देश का फिर, भाल उन्नत पाएंगे. प्राणपन से शपथ लें….

इन्सेफेलाइटिस,डेंगू,मलेरिया, म्लेच्छ्ता के यार हैं.
कूड़ा – करकट, रुका पानी, मच्छरों के प्यार हैं.
मजबूत इच्छाशक्ति से ही, स्वस्थ राष्ट्र बनायेंगे. प्राणपन से शपथ लें….

राह चलते कार बस से, गुटखा खाके थूक देना,
भवन सरकारी हों यदि तो सीढ़ियों पे चूक होना.
सार्वजानिक दीवारों पर अब, ज़िप नहीं खुलवायेंगे . प्राणपन से शपथ लें….

श्वान भी जहाँ बैठता है पूँछ से थल साफ़ करके,
पोखरों में पशु उतरता फूंक कर जल साफ करके.
मनुज तन तो श्रेष्ठ योनी, जगत को बतलायेंगे. प्राणपन से शपथ लें….

प्राणपन से शपथ लें हम स्वच्छता अपनाएंगे,
निज निलय से कार्यालय तक सतत चमकाएंगे.

प्रदीप तिवारी
9415381880

Like Comment 3
Views 677

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing