Skip to content

भारत देश महान है

सागर यादव 'जख्मी'

सागर यादव 'जख्मी'

कविता

January 15, 2017

भारत देश महान है भाई

भारत देश महान है

यहाँ के नेता चारा चरते

आए दिन घोटाला करते

गूँगी -बहरी जनता खातिर

ये गिरधर गोपाल हैँ

भारत देश महान है भाई

भारत देश महान है

यहाँ के साधु -सन्यासी

दुर्व्यसनोँ मेँ जकड़े रहते

आशाराम सरीखे ढोँगी

आए दिन दुष्कर्म करते

जो इन पर करे भरोसा

वो मूरख नादान हैँ

भारत देश महान है भाई

भारत देश महान है

यहाँ के घूसखोर सिपाही

अपराधी से डरते हैँ

बेकसूर फरियादी को ये

जेल के अंदर करते हैँ

चंद सिक्कोँ मेँ ये अपना

बेच देते ईमान हैँ

भारत देश महान है भाई

भारत देश महान है

यहाँ की बेटियाँ अपने घर की

इज्जत बेचा करती हैँ

जीँस-टाप मेँ ब्वायफ्रेँड के संग

पार्क मेँ घूमा करती हैँ

शादी से पहले माँ बनना

ये बातेँ तो आम हैँ

भारत देश महान है भाई

भारत देश महान है

Share this:
Author
सागर यादव 'जख्मी'
नाम- सागर यादव 'जख्मी' जन्म- 15 अगस्त जन्म स्थान- नरायनपुर पिता का नाम-राम आसरे माता का नाम - ब्रह्मदेवी कार्यक्षेत्र- अध्यापन माँ सरस्वती इंग्लिश एकाडमी ,सरौली,जौनपुर ,उत्तर प्रदेश. प्रकाशन -अमर उजाला ,दैनिक जागरण ,रचनाकार,हिन्दी साहित्य ,स्वर्गविभा,प्रकृतिमेल ,पब्लिक इमोशन बिजनौर ,साहित्यपीडिया... Read more
Recommended for you