Mar 28, 2021 · गीत
Reading time: 1 minute

” ब्रज की होली “

*ब्रज की होली* ”

_खेलत श्याम, जमुन तट होरी।_ ..!

ग्वाल बाल सँग स्वाँग रचावत,
झूमत करत किलोली।
कोउ अबीर गुलाल उड़ावत,
बाँधि कमरिया झोरी।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

गोपिन कै सँग दरस राधिका,
ग्वाल करत बरजोरी।
सब मिलिकै हुड़दंग मचावत,
बाँसुरि श्यामहिँ तोरी।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

श्याम कै पास जु जात लजावत,
छाँड़ि कोऊ नहिं कोरी।
रँग कितैक चढ़े हैं सुहावत,
पियरी चुनरिया मोरी।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

भँग के रँग माँ चँग जु आवत,
बहियाँ मोरि मरोरी।
भरि-भरि रँग पिचकारि चलावत,
भीजी अँगिया मोरी।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

लाज न नेकहुँ चित्त माँ लावत,
बिहँसि करै जु ठिठोली।
कोउ मतँग मृदँग बजावत,
झाँझ, मँजीरा कोई।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

ढोल की थाप पै ग्वाल नचावत,
तान माँ गावत कोई।
कुमकुम थाल माँ कोउ सजावत,
करत जु कोउ चिरौरी।
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

बाद बरस कै परब जु आवत,
तनिक न कोउ सबूरी।
देवनवृन्द सुमन बरसावत,
धन्य श्याम की होरी..!
_खेलत श्याम, जमुन तट होरी…!_

——//——-//——–//——–//——–//——

रचयिता-

Dr.asha kumar rastogi
M.D.(Medicine),DTCD
Ex.Senior Consultant Physician,district hospital, Moradabad.
Presently working as Consultant Physician and Cardiologist,sri Dwarika hospital,near sbi Muhamdi,dist Lakhimpur kheri U.P. 262804 M.9415559964

20 Likes · 20 Comments · 270 Views
Copy link to share
#7 Trending Author
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
46 Posts · 24.2k Views
Follow 44 Followers
M.D.(Medicine),DTCD Ex.Senior Consultant Physician,district hospital, Moradabad. Presently working as Consultant Physician and Cardiologist,sri Dwarika hospital,near... View full profile
You may also like: