23.7k Members 49.9k Posts

बौराया बसन्त

फूलि,मुसकाति, खड़ी सरसौँ भले हो खेत,
जौबन कौ भार लगै गेहुँन पै भारी है।
अँबुआ लजात उत बौरन के भार सौँ,
कोयल की कूक सब रागन ते न्यारी है।
अल्हड़ बयार भई सोँधी परागन सोँ,
भँवरन की तान सब गीतन से प्यारी है।
अँगना मा काग बोलि धीरज बँधात मोहि,
हिय की हिलोरन पै मेरौ बस नाहीं है।
काहे तड़पात,अब काहे कौ न आवत पिय,
एक-एक पल मोरे जियरा पै भारी है! .

Like 5 Comment 2
Views 111

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Muhamdi, Lakhimpur kheri
35 Posts · 11k Views
M.D.(Medicine),DTCD Ex.Senior Consultant Physician,district hospital, Moradabad. Presently working as Consultant Physician and Cardiologist,sri Dwarika hospital,near...