.
Skip to content

बेटी माँ से कहे@@ हाथ पीले कर दो न माँ @@@@@

अजीत कुमार तलवार

अजीत कुमार तलवार "करूणाकर"

कविता

January 27, 2017

ओ माँ, यह हाथ पीले सुना है बहुत
क्या बता सकती है तू , होता है यह क्या
कल रात शादी में पड़ोस में सब कह रही थी
अच्छा हुआ , की हाथ पीले हो गए उसके, !!

ओ माँ, तून बता न, कब होंगे हाथ पीले मेरे
ला हल्दी , कर जल्दी ,मेरे मन को शांत कर
कितना आसान है, हाथ को ऐसे पीले करना
नहीं जो जाकर रसोई से में ले लूंगी हल्दी !!

सुनकर इस बात को मन बड़ा व्याकुल हुआ
अपनी नन्ही सी जान ने यह क्या धमाल किया
अगर होता बेटी सब वो सामान, तो कर देती आज
बना लेती तेरा इक आशियाना , ले आती घर मेहमान !!

इक छोटी सी पूँजी से, कैसे होगा यह समाधान
बस बेटी तेरा यह काम जल्द ही करेंगे भगवान्
तुझ को वो सब मिले, जो न मिल सका तेरी माँ को
तेरा दामन सदा खुशिओं से भरा रहे, बस सब मिले तुझको !!

डर लगता है, की जब हो जायेंगे हाथ तेरे पीले बेटी
न जाने कैसा मिलेगा वर, घर तुझको ओ मेरी बेटी
बड़े नाजो से पाला है तुझको हम ने मिल कर ओ बेटी
जिस तरहां से इस घर खेली, बस वैसा ही मिल जाये बेटी !!

अरमान बहुत हैं दिल में, तेरा सदा सुखी रहे घर द्वार
हर ख़ुशी सदा तेरे आँगन में मिले तेरा चलता रहे संसार
तुझे हाथो में उठा कर रखे वो , जो तेरा बने वह प्यार
“अजीत” तुझे सदा मिलता रहे , हमारा शुभाशीष !!

अजीत तलवार
मेरठ

Author
अजीत कुमार तलवार
शिक्षा : एम्.ए (राजनीति शास्त्र), दवा कंपनी में एकाउंट्स मेनेजर, पूर्वज : अमृतसर से है, और वर्तमान में मेरठ से हूँ, कविता, शायरी, गायन, चित्रकारी की रूचि है , EMAIL : talwarajit3@gmail.com, talwarajeet19620302@gmail.com. Whatsapp and Contact Number ::: 7599235906
Recommended Posts
बेटियाँ
@@@@@ हाथ पीले कर दो न माँ @@@@@ ओ माँ, यह हाथ पीले सुना है बहुत क्या बता सकती है तू , होता है यह... Read more
माँ तेरे दर पर आई हूँ।
जय माँ वैष्णो देवी जय माता दी जय माँ शेरावाली ????? माँ तेरे दर पर आई हूँ हाथ जोड़े मैया , श्रद्धा का पुष्प मैं... Read more
बेटी
शक्ति का संचार है बेटी भक्ति का द्वार है बेटी मुक्ति का मार्ग है बेटी सृजन संसार है बेटी मन का भाव है बेटी रामायण... Read more
तु भी माँ मैं भी माँ
माँ तेरी याद आती है जब बेटी को गुड़िया कह कर पुकारती हूँ तो तेरे मुहँ से अपने लिए मुनिया माँ। माँ तेरी याद आती... Read more