Skip to content

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

Neelam Ji

Neelam Ji

कविता

February 23, 2017

**बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ**

पढ़ेगी बेटी आगे बढ़ेगी बेटी ।
बेटों से भी बढ़कर चमकेगी बेटी ।
जग में नाम रोशन करेगी बेटी ।
हर मुश्किल से डटकर लड़ेगी बेटी ।
माँ बाप पर बोझ नहीं बनेगी बेटी ।
परिवार का सहारा बनेगी बेटी ।
सशक्त नारी सशक्त समाज बनाएगी बेटी ।
सबका मान सम्मान बढ़ाएगी बेटी ।
धरती को स्वर्ग बनाएगी बेटी ।
बचाओ बेटी पढ़ाओ बेटी ।
मत गर्भ में मार गिराओ बेटी ।
लिखी हैं कुछ लाइनें तेरी शान में बेटी ।
मुझे है बेटे से प्यारी बेटी ।
बेटा है दिल तो जान है बेटी ।
खुशनसीब हूँ मैं जो मुझे मिली बेटी ।
नीलम है नाम मेरा और भव्या है मेरी बेटी ।
जो किस्मत से मिला मुझे वो वरदान है बेटी ।

Author
Neelam Ji
मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।। तब तक अपने ना सही ... । दुनिया के ही कुछ काम आना ।।
Recommended Posts
बेटी का है सम्मान
कविता बेटी का है सम्मान - बीजेन्द्र जैमिनी बेटी पढा़ओ- शिक्षा है वरदान मानव जाति का है कल्याण बेटी का है सम्मान बेटी बचाओ -... Read more
?बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ?
?? जलहरण घनाक्षरी ?? ?????????? *बेटियां बचाओ* और *बेटियां पढ़ाओ* सब बेटियों पे टिका जग बेटी है परम् धन। कोख में जो बेटी हो तो... Read more
बेटी घर का है उजियारा
चलो साथियो, मिल के घर-घर, इक अभियान चलाएँँ। बेटी घर का है उजियारा, यह संज्ञान करायें।। माँँ की गोद हरी हो जब बेटी से, सब... Read more
बेटी घर का है उजियारा
चलो साथियो, मिल के घर-घर, इक अभियान चलाएँँ। बेटी घर का है उजियारा, यह संज्ञान करायें।। माँँ की गोद हरी हो जब बेटी से, सब... Read more