Skip to content

***बेटी के दोहे***

Dr Meenaxi Kaushik

Dr Meenaxi Kaushik

दोहे

March 24, 2017

**बेटी के दोहे*****

1) बांटें खुशी जहान को,बोले मीठे बोल
कन्या फिर क्यूं बोझ है,बोल जिन्दगी बोल।
2) चलती फिरतीलक्ष्मी ,घर आंगन की शान
होती जिस घर बेटियां उसका तीर्थ जहान।
3) बेटे की रख कामना,बेटी मारे बाप
कैसा बेटा दे खुदा,कमा रहा जो पाप।
4) बेटी की हत्या करे,बेटे खातिर बाप
कुलदीपक के नाम पर कैसे कैसे पाप।
5) बेटे खातिर कर रहे जो बेटी का खून
ढूंढे से भी ना मिले, उनको कहीं सूकून।
6) मानव तेरे कर्म को धरा रही धिक्कार
देवी कहता है जिसे,रहा गर्भ मे मार।
7) आया कहां समाज में अब तक भी बदलाव,
मात पिता ही कर रहे कन्या संग दुराव।
8) बेटे से कम आंक कर मत कर देना तू भूल
खुशबू दे जो उम्रभर बेटी ऐसा फूल।
9) पालक भी करने लगे सौतेला व्यवहार
बेटी से ज्यादा करे वो बेटे से प्यार ।
10) नारी पर होनेलगे पग पग अत्याचार
नही सुरक्षित कोख में,शक्तिका अवतार।
11) भूल करी थी कंस ने,कन्या दी थी मार,
केशव ने उस दुष्ट को, दिया मौत उपहार।
12) कन्या की हत्या करे,कहलावे वो कंस,
बेटी को ना मारना,मिट जाएगा वंश।
13)हाथ जोड़ कर ‘मीनाक्षी’ करती आज गुहार,
कन्या ही तो है यहां,सृष्टि का आधार।
(डा मीनाक्षी कौशिक रोहतक)

Author
Dr Meenaxi Kaushik
मांगा नही खुदा से ज्यादा बस इतना चाहती हूँ, करके कर्म कुछ अच्छे सबके दिलों मे रहना चाहती हूँl ईश वन्दना जन सेवा कर जीवन बिताना चाहती हूँ, हर पल हर चेहरे पर मुस्कुराहट लाना चाहती हूँ ||
Recommended Posts
बेटियाँ
बेटी बचाइये!बेटी बचाइये!! बेटी से सृष्टि चलती नव सभ्यता पनपती दो-दो कुलों में बनकर दीपक की लौ चमकती बेटी पराया धन है मन से निकालिए।... Read more
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
Neelam Ji कविता Feb 23, 2017
**बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ** पढ़ेगी बेटी आगे बढ़ेगी बेटी । बेटों से भी बढ़कर चमकेगी बेटी । जग में नाम रोशन करेगी बेटी । हर... Read more
गीत. बेटियाँ
Geetesh Dubey गीत May 25, 2017
गीत **** बेटी नही तो ये जहान क्या जहान है रॊनक कहाँ है फिर तो महज वो मशान है । माँ बाप के अब्सार की... Read more
बेटी की पुकार-------- बेटी ना मारो
फर्क नहीं बेटा बेटी में.....हो ssssss समझो मां के प्यारों। ना बेटी मारो,. ना बेटी मारो ll भगवान की इस नैमत पे ,क्यूं चलता जोर... Read more