Skip to content

बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?

Neelam Ji

Neelam Ji

कविता

July 7, 2017

???????
बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?
बहुत सोचा पर समझ नहीं आता !
???????
कहते बेटा कुल का वारिश है ,
पर बेटी कौन सी लावारिस है ।
जिस कोख से जन्मता है बेटा ,
बेटी भी तो उसी कोख की पैदाइस है ।।
???????
बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?
बहुत सोचा पर समझ नहीं आता !
???????
कहते बेटा घर में रहेगा ,
बेटी तो पराया धन है ।
कभी सोचा है बेटी को पराया बनाता कौन है ?
बेटे को घर में रहने का हक देता कौन है ?
???????
बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?
बहुत सोचा पर समझ नहीं आता !
???????
बेटा बेटी दो आँखों जैसे , किसी ने बात कही है सच्ची ,
पर दोनों आँखों में से एक आँख क्यूँ लगती नहीं अच्छी ।
बेटे की भ्रूण हत्या करते कभी भी देखा नहीं किसी को ,
जिस भ्रूण को रोज ही मरते देखा वो है केवल बच्ची ।।
???????
बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?
बहुत सोचा पर समझ नहीं आता !
???????

Author
Neelam Ji
मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।। तब तक अपने ना सही ... । दुनिया के ही कुछ काम आना ।।
Recommended Posts
बेटा बेटी में भेदभाव ना कीजिये
बेटे को तुम लाड लड़ाते बेटी को क्यों दुत्कार रहे। बेटे ने क्या गुल खिलाया बेटी को क्यूँ नकार रहे।। बेटे को पब्लिक स्कूल बजे... Read more
बेटी की पुकार-------- बेटी ना मारो
फर्क नहीं बेटा बेटी में.....हो ssssss समझो मां के प्यारों। ना बेटी मारो,. ना बेटी मारो ll भगवान की इस नैमत पे ,क्यूं चलता जोर... Read more
*बेटी को बचाना बेटी को पढाना है *
घर-घर शिक्षा का दीप जलाना है बेटी को बचाना,बेटी को पढ़ाना है । सब पढ़ें, सब आगे बढ़े ऐसी मन में ठान ले हर एक... Read more
बेटियाँ
बेटी बचाइये!बेटी बचाइये!! बेटी से सृष्टि चलती नव सभ्यता पनपती दो-दो कुलों में बनकर दीपक की लौ चमकती बेटी पराया धन है मन से निकालिए।... Read more