*बेटियाँ*

ईश्वर का उपहार बेटियाँ
वीणा की झनकार बेटियाँ
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
सारी धरा सुनहरी लगती
अम्बर का श्रृगांर बेटियाँ
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
आगे हरदम जाती बढ़ती
खुशियों की बौछार बेटियाँ
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
हर बाधा को पार ये करती
नय्या की पतवार बेटियाँ
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
साहस और लगन से सजती
करें हसीं ललकार बेटियाँ
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

Like Comment 0
Views 26

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share