.
Skip to content

बेटियाँ

ईश्वर दयाल गोस्वामी

ईश्वर दयाल गोस्वामी

गज़ल/गीतिका

January 10, 2017

दो नदियों का मेल कराती हैं बेटियाँ ।
प्यार की धारा ही बहाती हैं बेटियाँ ।
संजीदगी से करती हैं कठनाईयों को पार
सहयोग का दस्तूर चलाती हैं बेटियाँ ।
जिंदगी की राह पर ममता की छाँव से
अमरत्व के प्रभाव लुटाती हैं बेटियाँ ।
बेटों से भी हो जाये यदि कोई सरारत
बिगड़ी हुई वह बात बनाती हैं बेटियाँ ।
जिंदगी के तंज को प्रसाद समझकर
आँसुओं का बाग सजाती हैं बेटियाँ ।
वेदना की राह पर बिंदिया की चमक से
हर्ष का आभास कराती हैं बेटियाँ ।

Author
ईश्वर दयाल गोस्वामी
-ईश्वर दयाल गोस्वामी कवि एवं शिक्षक , भागवत कथा वाचक जन्म-तिथि - 05 - 02 - 1971 जन्म-स्थान - रहली स्थायी पता- ग्राम पोस्ट-छिरारी,तहसील-. रहली जिला-सागर (मध्य-प्रदेश) पिन-कोड- 470-227 मोवा.नंबर-08463884927 हिन्दीबुंदेली मे गत 25वर्ष से काव्य रचना । कविताएँ समाचार... Read more
Recommended Posts
चलती है बेटियाँ
मंजिल की राह मे,चलती है बेटियाँ | चलती है बेटियाँ, बढ़ती है बेटियाँ || दिल हजारो अरमां,संजोती है बेटियाँ | संजोती है बेटियाँ, पिरोती है... Read more
बेटियाँ
देश क्या परदेश में भी, छा रहीं हैं बेटियाँ हर ख़ुशी को आज घर में, ला रहीं हैं बेटियाँ बाग हमने जो लगाये, थे यहाँ... Read more
बेटियाँ
ऑखो में काजल लगाती बेटियाँ कभी ऑसू बहाती बेटियाँ कभी दो टूक कर दे दिलों को कभी रिश्तों को रफू कराती बेटियाँ कभी ख्वाबों की... Read more
बेटियाँ
ऑखो में काजल लगाती बेटियाँ कभी ऑसू बहाती बेटियाँ कभी दो टूक कर दे दिलों को कभी रिश्तों को रफू कराती बेटियाँ कभी ख्वाबों की... Read more