दोहे · Reading time: 1 minute

बेटा श्रवण कुमार

चरणो सा माँ बाप के, कोई नही मुकाम !
फीके जिनके सामने,.. सारे तीरथ धाम !!

सेवा मे माँ बाप की , मिले अलौकिक प्यार !
बड़ा उदाहरण एक है,सचमुच श्रवण कुमार !!
रमेश शर्मा

2 Likes · 2 Comments · 43 Views
Like
510 Posts · 51.8k Views
You may also like:
Loading...