कविता · Reading time: 1 minute

बेटा प्यार से कहकर पुकार दिये पापा

बेटा प्यार से कहकर पुकार दिये पापा !
बड़े दिन बाद मुझे पुचकार दिये पापा !!

तेरे जैसे मै भी कभी जवान था कहकर ,
आसमां से धरती पर उतार दिये पापा !!

भटक गया अपने पथ से अच्छा किया ,
अन्दर के शैतान को मार दिये पापा !!

अपने किये हुए कर्मो से शर्मिंदा हू ,
यारो मुझे नया अवतार दिये पापा !!

उन्होंने अपनी दास्तां मुझको सुनाकर ,
सच में बहुत बड़ा उपहार दिये पापा !!

जुगनू छोड़ दिया ग़लत लोगो का साथ ,
मुझे सही समय में सुधार दिये पापा !!

44 Views
Like
51 Posts · 8k Views
You may also like:
Loading...