मुक्तक · Reading time: 1 minute

बीवी को आई नही (दोहा मुक्तक )

बीवी को आई नही,…..पाकिट मारी रास!
मोदी जी की चाल इक, बनी गले की फास !
अलमारी से आगये,स्वत: छिपे सब नोट,
चौकन्ने शौहर हुए, बचा नही कुछ पास!!
रमेश शर्मा

1 Like · 34 Views
Like
510 Posts · 51.7k Views
You may also like:
Loading...