मुक्तक · Reading time: 1 minute

बिगडी़ दोस्ती और खराब कर लेते हैं

बिगडी़ दोस्ती और खराब कर लेते हैं
आ पुराना हिसाब किताब कर लेते हैं
मेरे जयाति ताल्लुकात नही हैं उनसे
हां कहीं मिले तो अदबो आदाब कर लेले हैं

33 Views
Like
You may also like:
Loading...