Nov 14, 2018 · दोहे
Reading time: 1 minute

बाल दिवस पर दोहे

1
चाचा नेहरू ने किया, बच्चों से था प्यार
जन्मदिवस उनका बना,बाल दिवस त्यौहार
2
बाल दिवस का स्वप्न भी, तब होगा साकार
बालश्रम से हो नहीं, जब बचपन बेजार
3
कर्णधार हैं देश के, मासूम नौनिहाल
करना है संस्कार से, इनको मालामाल
4
बाल दिवस के नाम की, मची हुई है धूम
मगर कहीं पर बाल ही, रोटी से महरूम
5
नेहरू जी का जन्मदिन, लगे बाल त्यौहार
खुशियों से आओ रँगे, बच्चों का संसार
6
बाल मेला लगा हुआ, बच्चों की है फौज
बाल दिवस पर हो रही, सबकी मस्ती मौज
7
खूब खेलते कूदते , रहे निर्भय स्वछंद
भूला जा सकता नहीं, बचपन का आनन्द
8
आता रहती हैं हमें, बचपन तेरी याद
भोली भोली सी हँसी, तुतलाते संवाद
9
मोबाइल ने कर दिये, बच्चे घर में बन्द
खुली हवा का अब नहीं, लेते ये आनन्द
10
चाचा नेहरू ने दिया,बाल दिवस उपहार
बच्चों से था जो उन्हें, सबसे ज्यादा प्यार

14-11- 2018
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

3 Likes · 3 Comments · 1414 Views
#22 Trending Author
Dr Archana Gupta
Dr Archana Gupta
984 Posts · 102.5k Views
Follow 59 Followers
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी तो है लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद... View full profile
You may also like: