बाल कविता · Reading time: 1 minute

बाल कविता

मुंह में पानी लेकर पुछते सब दाम
बन्दर ने बताया मैंगो मायने आम।

मोटू पतलू साथ -साथ चले बजार,
सिंहम बताये पोमग्रेनेट मायने अनार।

भीड़- भाड़ में बचा के रखा करो जेब,
मिट्ठू तोता कहता एप्पल मायने सेब।

गलत हो जाता इ,ई, उ,ऊ की मंतरा,
जाड़े में खाओ आरेंज मायने संतरा।

अलग-अलग होते बन्दर और लंगूर,
लोमड़ी ने बताया ग्रेप्स मायने अंगूर।

नूरफातिमा खातून नूरी
जिला-कुशीनगर

107 Views
Like
Author
नूरफातिमा खातून" नूरी" सहायक अध्यापिका प्राथमिक विद्यालय हाता-3 ब्लाक-तमकुही जिला-कुशीनगर उत्तर प्रदेश पिता का नाम-श्रीअख्तर हुसैन माता का नाम-श्रीमती सबीहा खातून पति-श्री रियासत अली शौक-मुक्तक, छन्दमुक्त कविता लेखन विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं…
You may also like:
Loading...