बहुमूल्य है ज़िन्दगी के पल

सपने करना है तुझे पुरा
अतरंग मन को कर धार
छोड़ अपनी कल की ज़िन्दगी
तुम्हे जीना है वर्तमान पर

अपने ज्ञान दीप रोशनी से
खुद को कर तू प्रकाश
बहुमूल्य है ज़िन्दगी के पल
आज है वो न मिलेगा कल

पास सबकुछ,असंभव नहीं
कठीन जरूर है पथ
जोखिम लेना ही होगा
तभी होंगे सपने सच

कुछ कर दिखलाने की
क्यों ढूंढ़ते हो अवसर
झक मर के आएगी सफलता
तू लगन से मेहनत कर

मुसीबत भी घबरा जाएगी
साहस को बना ले औजार
कर अपने ईरादा अचल
तुझे उड़ना है आसमा पर

उम्मीद रख अपने अंदर
जरूर होगा ध्येय पूरा
तू लिख अपने नाम
हर शाम हर सवेरा

तुम्हे देख रहा होगा मंज़िल
न बैठ मान के हार
कदम- कदम में है मुश्किल
तुम्हे रहना होगा तैयार

8 Views
नाम- दुष्यंत कुमार पटेल उपनाम- चित्रांश शिक्षा-बी.सी.ए. ,पी.जी.डी.सी.ए. एम.ए हिंदी साहित्य, आई.एम.एस.आई.डी-सी .एच.एन.ए Pursuing -...
You may also like: