.
Skip to content

बहुत उदास है दिल

umesh mehra

umesh mehra

गज़ल/गीतिका

April 17, 2017

बहुत उदास है दिल, आप जाने सुकून बन जाओ। सफ़र कटेगा मजे से, गर आप हमसफ़र बन जाओ ।।
मेरी फक़त बिसात क्या, कि तुझे अपना बना लूँ ।
फकत ये आरज़ू है, कि तुम मेरी जान बन जाओ ।। हमनफस नहीं है मेरा, राहे सफ़र के लिए कोई ।
गुलों से राह सजा दू, गर आप साथ आ जाओ ।।
गुलों के रंग भी बे-नूर , से लगे हमको ।
कुछ तो करम हो तेरा, कि नूर ए रंग भर जाओ ।।
सजा जो भी मुकर्रर हो, जिंदगी पेश है सनम।
मेरी तो आरज़ू है कि, दिल को चाक कर जाओ ।।
सजेगी महफिले रोज ही, मगर हम नहीं होंगे ।
अब तो राहे उल्फत मैं, कत्ल ही कर जाओ ।।
बहुत उदास है दिल, आप जाने सुकून बन जाओ ।
उमेश मेहरा
गाडरवारा (मध्य प्रदेश )
9479611152

Author
umesh mehra
Recommended Posts
अपने बन जाओ
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
बस तुम मेरे अपने बन जाओ,,,, इन आँखो के सपने बन जाओ,,,, वीरानी सी इस दुनिया मे,,,, दिल की तुम धड़कन बन जाओ,,,, मेरी इस... Read more
हो जाओ
मोहबत में गुलाब हो जाओ मंजर ए मेहताब हो जाओ इस तरह करो मोहबत हमसे बिल्कुल लाजबाब हो जाओ बस इतना ही कहूँगा साथी चाँदनी... Read more
ग़ज़ल
ग़ज़ल ******** हमारे इश्क़ के सदके ,ये काम कर जाओ हमारे दिल में नहीं , रूह में उतर जाओ ********** हमें भी प्यार की खुशबू... Read more
अभिलाषा
मेरे हृदय के तुम मंदिर में; कोई दीप जलाओ न; बरसों से यहाँ घना अँधेरा; एक किरण बन जाओ न।। इस मंदिर को पावन कर... Read more