मुक्तक · Reading time: 1 minute

बस यूं ही

मौज है, मस्ती है, खुमारी है
तुम्हारे नाम की,
अब क्यों तलाशे कि
खुदा कौन है…

2 Likes · 37 Views
Like
86 Posts · 6.7k Views
You may also like:
Loading...