बर्षा!

●वर्ष के
एक
विशेष
मौसम में
होंने वाली
घटना
वर्षा ।

●बादलो का
बनना
और
बूंदों के रूप
में
बरसना
बर्षा।

●टप टप की
आवाज
कर
आसमान को
धरती
से
जोड़ना
बर्षा।

●सूखे
मुरझाये
पल्लवित
पौधों को
नवजीवन
प्रदान
करना
वर्षा।

●फसलों
में
जान डाल
कृषकों
की
मुस्कान
बर्षा।

●मन
को
तन
को
चमन
को
सुकूँ
ज्यों
देती
‘दीप’
का
प्रकाश
वर्षा।

-जारी
©कुल’दीप’ मिश्रा

Like 3 Comment 0
Views 6

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share