कविता · Reading time: 1 minute

बदलना चाहते हैं

बदलना चाहते हैं

वो चाहते हैं
पूरी दुनिया को बदलना
इसी उद्देश्य से
लगाते है शाखाएं
गांव-गांव
शहर-शहर
लेकिन अफसोस
खुद को नहीं
बदलना चाहते

-विनोद सिल्‍ला

38 Views
Like
Author
टोहाना, जिला फतेहाबाद हरियाणा
You may also like:
Loading...