Skip to content

बताओ तो !

Govind Kurmi

Govind Kurmi

मुक्तक

July 7, 2017

दिल को कोई ठोकर लगी,,,,,,,,, बताओ तो !
????????
इश्क था या दिल की ठगी,,,,,,,,, बताओ तो !
????????
तेरे दिल से जो निकले जाना तेरे आशिक हजार निकले !
????????
सच ? तेरी आदत है दिल्लगी,,,,,,,,, बताओ तो !
????????

Author
Govind Kurmi
गौर के शहर में खबर बन गया हूँ । १लड़की के प्यार में शायर बन गया हूँ ।
Recommended Posts
जब कभी हम उनसे हाले दिल सुनाने निकले। उनके होंठों पे सदा वक्त न होने के बहाने निकले।।
जब कभी हम उनसे, हाले दिल सुनाने निकले। उनके होंठों पे सदा, वक्त न होने के बहाने निकले।। दो घ‌ड़ी इत्मिनान से, ग़ुफ्तगु भी मयस्सर... Read more
तेरी हर घड़ी और पल पल में हम हैं
तेरी हर घड़ी और पल पल में हम हैं, तेरी साँस साँस हर धड़कन में हम हैं। तेरे हर मोड़ और हर कदम पे हम... Read more
बताओ का करिए
बेजा पर रओ घाम, बताओ का करिए कैसे हूँ हैं काम बताओ का बताओ का करिए कैसे मिलन करें राधा से यू पी में सोच... Read more
हम इतने दीवाने निकले
लोग हमें समझाने निकले हम इतने दीवाने निकले नज़रें मिली,बात इतनी थी किस्से कई अफ़साने निकले जब भी मिले यारों से अपने दिल का हाल... Read more