.
Skip to content

बजरंगी तेरा सहारा

Ankur pathak

Ankur pathak

गीत

May 19, 2017

बजरंग बली बाला मेरी पुकार सुन लो ,
मझधार फंसी नईया, नईया को पार कर लो ,
कर जोर के है विनती राम। ……..
कर जोर के है विनती उसी बार बार सुन लो !!
बजरंग बली। ……
मई हूँ बड़ा अज्ञानी मुझे ज्ञानवान कर दो ,
जीवन में जो अन्धेरा उसका निदान कर दो ,
बजरंग बली मुझपे राम। …….
बजरंग बली मुझपे महिमा अपार कर दो !!
बजरंग बाले। …….
हालत बड़ी है बिगड़ी , बिगड़ी मेरी बना दो ,
हो हर दिन नया सबेरा , ऐसी घड़ी बना दो ,
उपकार इतना करके राम। ….
उपकार इतना करके , मेरा उद्धार कर दो !!
बजरंग बली। ……
कंठो में राग भर दो , हाथो में साज़ भर दो ,
मन का मेल जो है , उसे साफ़ आज कर दो ,
मेरे जीवन का अन्धेरा राम। …..
मेरा जीवन का अँधेरा उसको भी पार कर दो !!!
बजरंग बाले बाला मेरी पुकार सुन लो……
अंकुर दीवाना की विनती हजार सुन लो !!!!

Author
Ankur pathak
my self Ankur Pathak belongs to Aayodha-Faizabad but I live in Lucknow, My hobbies singing and writing poem,songs and comedy.
Recommended Posts
निकलता है
सुन, हृदय हुआ जाता है मृत्यु शैय्या, नित स्वप्न का दम निकलता है। रोज़ ही मरते जाते हैं मेरे एहसास, अश्क बनकर के ग़म निकलता... Read more
अभी पूरा आसमान बाकी है...
अभी पूरा आसमान बाकी है असफलताओ से डरो नही निराश मन को करो नही बस करते जाओ मेहनत क्योकि तेरी पहचान बाकी है हौसले की... Read more
आहिस्ता आहिस्ता!
वो कड़कती धूप, वो घना कोहरा, वो घनघोर बारिश, और आयी बसंत बहार जिंदगी के सारे ऋतू तेरे अहसासात को समेटे तुझे पहलुओं में लपेटे... Read more
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है मगर छन भी आती कहीं रोशनी है न करती लबों से वो शिकवा शिकायत मगर बात नज़रों से... Read more