फैशन का दौर

हाय!फैशन का ये दौर देखों,
कलियुग कैसा घनघोर देखों।
कपडों के नाम पर हद बदल गई
फटी जींस फैशन में चल गई।
तन ढकता नही अब ,
फैशन के कपड़ो में।
लड़की जैसे बालों का ,
क्रेज हुआ लड़को में।
फैशन का नशा अब ,
सिर चढ़ बोल रहा हैं।
फैशन के नाम पर ,
हया के परदे खोल रहा हैं।
आँख पर काला चश्मा,
तन पर कपडे हो गए कम।
इस फैशन की दौड़ में ,
सब दौड़ रहे हरदम।
अब तो आबरू भी भूल गए,
इस फैशन के दौर में ।
बड़े बूढ़े और बच्चे भी,
जकड़ गये इस फैशन के दौर में…….

Like 1 Comment 0
Views 107

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing