Sep 1, 2016 · कविता
Reading time: 1 minute

फर्क

बंगले में रहने वाली
मेमसाब से
पूछा महाराज ने
आज क्या बनेगा ?
पालक पनीर या शाही पनीर
बिरियानी और खीर ?
मेडम बोलीं
बना लो सभी कुछ ।
उधर झोंपडी में भी
प्रश्न वही था
आज क्या बनेगा?
जाकर देखूं रसोई में
कुछ है क्या?
थोडे से चावल या आटा
मिट जाए भूख
जिससे आज भर की ।

6 Comments · 93 Views
Copy link to share
Shubha Mehta
23 Posts · 2.1k Views
Follow 1 Follower
You may also like: