Jan 15, 2018 · कविता
Reading time: 1 minute

प्लीज पापा, मुझे अठ्ठाहस दो ना

पापा देखो ना,
मां मुझे,
जन्म देना नहीं चाहती,
पापा मां को, समझाओ ना,
मां मुझे गर्भ में ही,
क्यों मारना चाहती।
पापा आप दोनों की खून हूं मैं,
प्यार के खुबसूरत पल की,
अनुपम तस्वीर हूं मैं,
पापा बहुत डरी और,
सहमी सी हूं मैं,
पापा मुझे साहस दो ना,
प्लीज पापा,
मुझे अठ्ठाहस दो ना।।

250 Views
Anand Kumar
Anand Kumar
10 Posts · 2.4k Views
Journalist Books: No Awards: No View full profile
You may also like: